समर्थक

शुक्रवार, 31 दिसंबर 2010

happy new year -2011

खुशियों की माला लेकर ;
नववर्ष खड़ा तेरे द्वारे ;
इस नए वर्ष में जो देखो ;
वे सपने सच्चे हो सारे .
*********************************
तुम स्वस्थ रहो ;बलवान बनो;
धनवान बनो ;विद्वान बनो;
इस वर्ष में नित दिन सेवा कर ;
आज्ञाकारी संतान बनो ;
मन में नव  पुण्य  जाग्रत  हो  ;
पाप सभी मन के हारें  ;
इस नए वर्ष में जो देखो ;
वे सपने सच्चे हो सारे .
********************************
घर -आँगन  जगमग-जगमग हो ;
नित मंगलकारी साज बजें ;
आपस में प्रेमभाव पनपे;
बैर क़ा पेड़ कटे जड़ से ;
धरती पर पैर जमाकर  तुम ;
छू आओ नभ के सब तारे .
इस नए वर्ष में जो देखो
वे सपने सब सच्चे हो सारे .

3 टिप्‍पणियां:

यशवन्त माथुर ने कहा…

आप को सपरिवार नववर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनाएं .

वन्दना ने कहा…

आपको तथा आपके पूरे परिवार को नए साल की हार्दिक शुभकामनाएँ!

Anita ने कहा…

मंगलकामनाओं से ओतप्रोत आपकी कविता अच्छी लगी ! आपको भी ढेरों शुभकामनाएँ!