समर्थक

मंगलवार, 5 मार्च 2013

'राजा 'को फाँसी अब चढ़ना होगा !!

Noose : White rope tied in a hangman's noose knot. Stock Photo
राजा भइया
 

छोड़ प्राण का मोह हमें अब लड़ना होगा !
बाहुबल से आर-पार अब लड़ना होगा !!

कब तक बेटे -पिता -भाई हम ऐसे खोयें ?
हर अपराधी को फाँसी अब चढ़ना होगा !!

'राजा ' है हत्यारा जनता क़त्ल हो रही !
सिंहासन के टुकड़े करने को बढ़ना होगा !!

जनता के सेवक ही सिर पर चढ़ कर बैठे !
इन्हें उतरकर जन-चरणों में पड़ना होगा !!

बाहुबल की काट दो बाहु फिर बल कैसा ?
'नूतन'इनको जेलों में अब सड़ना होगा !!

             शिखा कौशिक 'नूतन'

रविवार, 24 फ़रवरी 2013

पुरस्कृत होंगे आतंकवादी

 Blood : Red drop ink splatter, blood splash vector. Gloss brush paint spot, grunge blot, art blob, oil, abstract droplet. Splat, liquid illustration. Space for text. Stock Photo
पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,
दिए जायेंगें लोथड़े मांस  के 
जो  उन्होंने  बनाये   हैं इंसानी  जिस्मों के
और  साथ  में उन जिस्मों में के दिलों में
पलते सपनों के टूटे टुकड़े भी !



पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,

दिये  जायेंगे ईनाम में माँ के आंसू
जिन्होंने खोया है बच्चो  को ,
तड़पते बच्चो की चीत्कारें
जिन्होंने खोया है माँ अथवा पिता को
और विस्फोट में शरीरों  से अलग हुए
अंग ,मासूमों की आहें !


पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,

 दिए जायेंगे बद्दुआ   के   विपुल भंडार ,
और सड़कों पर बिखरा मासूमों का खून ,
क्योंकि तुम बन चुके हो हैवान
मासूमों की हत्या का ये ही तो मिल सकता है ईनाम
      शिखा कौशिक 'नूतन '

रविवार, 17 फ़रवरी 2013

घाटी अपने खून में देश की भक्ति का रस घोल !

      Kashmir Mountain Photos
मैं भारत हूँ सुन ले घाटी दिल की सारी गांठे खोल 
दहशतगर्दी मिटे मुल्क से संग-संग मेरे तू भी बोल .

दहशतगर्दी जो फैलाये करना उसका काम तमाम ,
नरम नहीं अब सख्त दिलों से लेना होगा हमको काम ,

मेरा बेटा-तेरा भाई सबको एक तराजू तोल !
दहशतगर्दी मिटे ..........................................



मासूमों के हत्यारों को फांसी देनी होगी रोज़ ,
अमन मिटाने वालों की नहीं मनेगी खूनी मौज ,
घाटी अपने खून में तू भी देश की भक्ति का रस घोल !

दहशतगर्दी मिटे ..........................................

अगली पीढ़ी नहीं गोद में गद्दारों के खेलेगी ,
दहशत के अंधड़ को वो भला क्यों झेलेगी ,
उनको हम आतंक मिटाकर अमन का दें तोहफा अनमोल !

दहशतगर्दी मिटे ..........................................

             शिखा कौशिक 'नूतन'

                              

शनिवार, 16 फ़रवरी 2013

हिंदुस्तान जैसा आशिक न मिलेगा ..घाटी

  Kashmir Garden Pictures

देर न हो जाये घाटी आज जाग जा ,
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

हिंदुस्तान जैसा आशिक न मिलेगा ,
गुमराह न हो सैय्याद की चाल जान जा !


जो हाथ थाम मेरा साथ चलेगी ,
मंजिल तरक्की की तुझे रोज़ मिलेगी ,
खामोश न रह मेरे संग चीख कर दिखा !

मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

 नोंचने की है पडोसी की तो आदत ,
अस्मत बचाई तेरी देकर के शहादत ,
नादान न बन आ मेरी हिफाज़त में तू आ जा !
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !


 करना है फैसला तुझे रख नेक इरादा  ,
मेरी अज़ीज़ तू रही है जान से जयादा ,
है इश्क़ दूध मेरा केसर सी तू घुल जा !
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

                     शिखा कौशिक 'नूतन ''


बुधवार, 13 फ़रवरी 2013

नेताओं की प्रेमिका ''सत्ता''

Happy Valentine's DayHappy Valentine's Day
भरी दुपहरी जेठ की या सावन की बौछार ,
रोज हाथ में 'रोज़' लिए करते इंतजार !


सोते-जागते सुबह-शाम इसकी रहती है खोज ,
प्रॉमिस करते बड़े बड़े ,करते इसको प्रपोज़ !

 
 गले लगाने को इसे हम सब हैं तैयार ,
पहने फूलों के हार भी जूतों की खाते मार !

  

 अमर प्रेम इससे हमें करते हैं स्वीकार ,
चंचल चित्त की प्रेमिका प्रेमी बदले हर बार !



     
मेहरबान जिस प्रेमी पर उसकी बनती सरकार ,
नेताओं की प्रेमिका ''सत्ता'' की जय जयकार !!!
          शिखा कौशिक 'नूतन'

शनिवार, 26 जनवरी 2013

हिन्दू प्राण बसे भगवा में


हिन्दू प्राण बसे  भगवा में

Hindu : Rusty flag pole with saffron coloured flag a symbolic emblem of a Hindu Temple



भगवा से है जुडी आस्था ; श्रद्धा और विश्वास ,
हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आती जाती श्वास  !



भगवाधारी   संतों ने ज्ञान प्रकाश फैलाया ,
सत्य,अहिंसा ,मानवता का  पावन  पाठ पढाया ,
भगवा रंग में रंग  हुआ है भारत का इतिहास !

 हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आती जाती श्वास  !



आये  लुटेरे  देश  में  घुसकर ; भगवा ने उनको झेला ,
मंदिर तोड़े ,शास्त्र जलाये ,खूनी खेल था खेला ,
नहीं झुका था भगवा  तब भी नहीं झुकेगा आज !

 हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आती जाती श्वास  !



 भगवा संग आतंक जोड़कर क्यों हमको भड़काते ?
भगवाधारी शांति दूत बन देश का मान बढ़ाते ,
भगवा बिन नहीं संभव है भारत का कभी विकास !

 हिन्दू प्राण बसे  भगवा में ; ये आती जाती श्वास  !

                                                      जय हिन्द ! जय हिन्दू  !
                                    शिखा कौशिक 'नूतन'

शुक्रवार, 25 जनवरी 2013

आओ मिलकर हम मनाएं गणतंत्र का दिन

आओ मिलकर  हम मनाएं गणतंत्र का  दिन  

आज है गणतंत्र का  दिन 
देश  का ये  पर्व  है ;
हम हैं भारत के निवासी 
हम को इस पर गर्व है !

राजपथ पर आज तिरंगा
 शान से लहराएगा ;
''जय हिंद''  का नारा  गूंजेगा 
हर  ह्रदय  हर्षायेगा   ;
देख  कर बल सेनाओं का
जोश  में भर जायेंगें  ;


बार  बार  हम ख़ुशी  में 
बस यही   दोहरायेंगें    ,
आओ मिलकर  हम मनाएं  
हम सभी का धर्म है ,
हम हैं भारत के निवासी 
हम को इस पर गर्व है !

आज के दिन सन पचास में 
संविधान था लागू हुआ ;
लोकतंत्र की इस बुलंदी को 
हमने ही इस दिन था छुआ ,
पूर्ण संप्रभुता वाला अपना  
भारत वर्ष है ,
हम हैं भारत के निवासी 
हमको इस पर गर्व है !

                                       शिखा कौशिक 


बुधवार, 23 जनवरी 2013

नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !



हर हिन्दू देश भक्त है , हिन्दू से हिंदुस्तान
नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

सब धर्मों को आदर दो ये शिक्षा हमको मिलती ,
हर हिन्दू के दिल  में सद्भाव की ज्योति जगती ,
क्रिश्चन हो या मुस्लिम सबको देते सम्मान !
नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

 अन्याय के विरूद्ध सदा ही हिन्दू शस्त्र  उठाते ,
मासूमों की रक्षा कर अपना धर्म निभाते ,
भारत माँ की रक्षा हित उत्सुक हो देते प्राण !
 नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

आतंक मिटाने वालों को तुम आतंकी हो कहते ,
खोल किताबे ''हिन्दू'' का तुम मतलब तो पढ़ लेते ,
लंका दहन करें पापी की  हम हैं वो हनुमान !
 नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

बुद्ध रूप में हम ही देते अहिंसा का सन्देश ,
राम रूप में वध करते बाली हो या लंकेश ,
पाप का अंत करें बनकर दुर्वासा -परशुराम !
  नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

मातृभूमि के वंदन तक से जिनको है परहेज़ ,
उनसे तुलना करी हमारी -करो प्रकट अब खेद ,
माफ़ी अगर नहीं मांगी तो होगा फिर संग्राम !
 नहीं सहा है नहीं सहेंगें हिन्दू अपना अपमान !

          जय हिन्द !   जय भारत !  जय श्री राम !

                    शिखा कौशिक 'नूतन'



रविवार, 20 जनवरी 2013

हम सच के पहरेदार हैं


हम हिंदी चिट्ठाकार हैं


 

My ImageMy Image
My Image   My ImageMy ImageMy ImageMy ImageMy Image
  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं My Image
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं

हम खुद अपनी सरकार  हैं 
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं !

सच लिखने से घबराते नहीं ,
राज़  किसी का छिपाते नहीं ,
लिखते हैं वो जो है सही ,
जैसी हो घटना बताते वही ,
हम सच के पहरेदार हैं ,
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं

लिखते  कविता , कहानी व् गीत ,
नूतन सृजन से हमको है प्रीत ,
चर्चा मंच सजाते हैं रोज़ ,
कौशल अपना दिखाते हैं खूब ,
हम साहित्यकार हैं 
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं 
  हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं 



Hamarivani.com 
हमारी वाणी ध्यान से सुनो 
हिंदी में लिखने का पथ तुम चुनो 
                  भावों को दो अभिव्यक्ति का रूप 
                   नित नई  रचना  का ताना -बाना बुनो 
       लाखों में एक परिवार है 
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं !
 हम हिन्दी चिट्ठाकार हैं !
Hamarivani.com

मंगलवार, 15 जनवरी 2013

भारतीय थल सेना दिवस की शुभकामनायें


भारत माता की जय !







छिप कर क्यों आता है कायर ?
आगे से आकर दिखा !
हम हैं वतन के प्रहरी 
आँखें मिलकर दिखा !
तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर देंगे 
ओ दुश्मन तेरा काम हम तमाम कर देंगे !



पीछे से करता क्यों वार है ?
आगे से आकर दिखा !
है बहादुर तू अगर 
मुंह न ऐसे छिपा ;
तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर देंगे 
ओ दुश्मन तेरा क़त्ल खुलेआम कर देंगे !
तेरी हर ...........

छिपकर चलाता क्यों गोली ?
आगे से आकर चला ;
हम हैं खड़े सीना ताने 
हमको मिटाकर दिखा 
तेरी हर साजिश को हम नाकाम कर देंगे 
हंसकर अपने प्राणों का बलिदान कर देंगे !
छिपकर क्यों आता है ...........
                                               जय हिंद !
                                    शिखा कौशिक 
                              nutan

रविवार, 13 जनवरी 2013

भारत माँ को नमन

भारत माँ को नमन 
अपनी जमीन सबसे प्यारी है ;
अपना गगन सबसे प्यारा है ;
बहती सुगन्धित मोहक पवन ;
इसके नज़ारे चुराते हैं मन ;
सबसे है प्यारा  अपना वतन ;
करते हैं भारत माँ को नमन 
वन्देमातरम !वन्देमातरम !
करते हैं भारत माँ ! को नमन .

उत्तर में इसके हिमालय खड़ा ;
दक्षिण में सागर सा पहरी अड़ा ;
पूरब में इसके खाड़ी बड़ी ;
पश्चिम का अर्णव करे चौकसी ;
कैसे सफल हो कोई दुश्मन ! 
करते हैं भारत माँ को नमन !
वन्देमातरम !वन्देमातरम !
करते हैं भारत माँ! को नमन .

हम तो सभी से बस इतना कहें ;
हिन्दू मुसलमान मिलकर रहें ;
नफरत की आंधी अब न चले;
प्रेम का दरिया दिलों में बहे ;
चारों दिशाओं में हो अमन ;
करते हैं भारत माँ! को नमन !
वन्देमातरम!वन्देमातरम!
करते हैं भारत माँ !को नमन .
                          जय हिंद !

बुधवार, 9 जनवरी 2013

भारतीय शहीदों को शत शत प्रणाम .भारत माता की जय !!

 Indian_flag : The India flag is on the white backgroundIndian_flag : illustration of indian flag colorfist coming out of cracked ground
 भारतीय शहीदों  को शत शत प्रणाम .भारत माता की जय !!

 पाकिस्तान द्वारा हमारे दो भारतीय सैनिकों के साथ किया गया अमानवीय व्यवहार  यह साबित करता है कि पाकिस्तान न तो हमारा मित्र बनने लायक है और न ही एक अच्छा दुश्मन .पाकिस्तान शर्म करो .

दुनिया से कह दो ना आँखें दिखाए ,
ताकत हमारी ना यूँ आजमाए ,
भारत माँ के बेटे हैं हम
लड़ते हैं जब तक दम में हो दम

Indian_flag : India map text with flag illustration Stock Photo 
 देशभक्ति का सिर  पर जूनून
अपनी रगों में बहे गर्म खून
दुश्मन को जब तक चटा  दे न धूल  ,
आता नहीं है दिल को सुकून ,
है तिरंगा हमारा धरम
लड़ते हैं जब तक दम में हो दम !



वार सहते सीनों पर हम
साजिश हमें ना होती सहन ,
पीठ पर जो छुरा  घोपते
ऐसे नहीं हैं हम दुश्मन ,
युद्ध में भी निभाते नियम
लड़ते हैं जब तक दम में हो दम !!

Aggressive soldier shooting his enemies, focus on weapon   Stock Photo - 7967877
शिखा कौशिक 'नूतन'

सोमवार, 7 जनवरी 2013

बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते



Delhi gang-rape
बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा
स्त्री को जिम्मेदार ठहराना  और 
पुरुष का अपने ही कुकृत्य पर
ठहाका लगा !

बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा
धर्म गुरु  द्वारा
जनता को भटकाना
और नेताओं का
राजनीति चमकाना .



बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा 

निकम्मे प्रशासन का 
बहाने बनना और 
इन्सान का वहशी बन जाना  


बलात्कार तब तक नहीं रुक सकते
जब तक नहीं रुकेगा
पुत्री  पर मर्यादा के
नाम पर प्रतिबन्ध लगाना
और पुत्रों का  संस्कारों से
परिचय न करवाना .
                              
शिखा कौशिक 'नूतन''

दोबारा प्रयास करुँगी

http://sr.photos3.fotosearch.com/bthumb/CSP/CSP990/k10079307.jpg
अब मैं कभी नहीं रोउंगी ;
अब मैं कभी निराश न होउंगी  ;
गम जितने देने हो दे दे;
अब मैं कभी उदास न होउंगी 
 *****
कभी थमेंगे नहीं ये हाथ;
पग बढ़ते जायेंगे आगे ;
बाधाओं की आग में जलकर ;
भले मैं बन जाऊं एक राख;
अब कभी दिल न टूटेगा
दिल में न कोई टीस ही होगी.
******
हर आशा को मन में रखकर;
प्रतिपल उसका ध्यान रखूंगी;
न घुटने दूंगी अभिलाषा;
संघर्षों से पूरी करुँगी;
और अगर पूरी न हुई तो
दोबारा प्रयास करुँगी.
************
अब मैं कभी नहीं रोउंगी ;
अब मैं कभी निराश न होउंगी  ;
गम जितने देने हो दे दे;
अब मैं कभी उदास न होउंगी

गुरुवार, 3 जनवरी 2013

''अमर प्रेम '' का ''भाव'' ही आधार !!

अमर प्रेम का आधार ''भाव''
 Love eternal wallpaper 1.9 Screenshot

तुम्हारे नयनों में
समस्त सृष्टि के लिए स्नेह ,
तुम्हारे अधरों पर
मंगलमयी पवित्र मुस्कान ,
तुम्हारे कर-पल्लवों  के
स्पर्श में है ममत्व ,
हे कल्याणी !
तुम्हारी देह से नहीं  आकर्षित ,
तुम्हारे भावों से हूँ  प्रभावित ,
स्नेह ,ममता और आह्लादित करने वाले
तुम्हारे भावों ने रख दी है नींव मेरे ह्रदय में
''प्रेम'' की !


तुम्हारे उर में उमड़ती
जगत की पीड़ा हरने वाली भावना ,
असीम कष्टों को सहज व् मूक होकर झेलना ,
रूप-गुण संपन्न व्यक्तित्व से गंध हीन पुरुष जीवन
में सुगंध बिखेरना ,
हे ईशा !
 तुम्हारी देह से नहीं  आकर्षित ,
तुम्हारे भावों से हूँ  प्रभावित ,
 कष्टहारिणी ,सहनशील व् सुगन्धा नारी
तुम्हारे भावों ने रख दी है नींव मेरे ह्रदय में
''प्रेम'' की !


शुचि स्मिता नारी ने
बल संपन्न ,गुण -ग्राही
पुरुष का प्रणय निवेदन
तब किया स्वीकार ,
नारी-पुरुष संयोग से सृष्टि
का हुआ विस्तार ,
ये कहानी प्रेम की ,
ये ही इसका सार ,
''अमर प्रेम '' का ''भाव''  ही आधार !!
      
                  शिखा कौशिक ''नूतन ''


मंगलवार, 1 जनवरी 2013

आइटम सॉग की मल्लिकाओं हाज़िर हो !!

 Malaika AroraKareena KapoorIndian model Poonam Pandey poses during a fashion event in Mumbai on June 25, 2011.
Katrina Kaif

स्त्री देह को उघाड़कर
पुरुष की हवस को हवा देने वाली
चुप क्यों हो ?
छिपी हो कहाँ ?
''दामिनी '' पर हुई दरिंदगी में
अपना गुनाह क़ुबूल करो !
पूनम पांडे  एंड  कम्पनी  हाज़िर हो !!


मुन्नी बदनाम हुई , हू ला ला ,
शीला की जवानी ,चिकनी-चमेली
बनकर थिरकती और नोट बटोरती
मलैका ,विद्या ,कैटरीना और करीना
क्यों  छिप  जाती हो
स्त्री देह को आइटम बनाकर
अपने अति सुरक्षित बंगलों में ?

हर आम स्त्री की अस्मत पर
होते हमलों में अपना गुनाह  क़ुबूल करो !
आइटम सॉग की मल्लिकाओं हाज़िर हो !!


 नारी होकर नारी के सम्मान को डसती
आम नारी की गरिमा के गले में
फंदे सी कसती ,
नारी देह को माल बनाकर
बेचती ,मनोरंजन के नाम पर अश्लीलता
परोसती ,
सड़क पर गुजरती ,बस में जाती
आम युवती पर कसी जाती फब्तियों में
अपना गुनाह क़ुबूल करो
राखी सावंत एंड कम्पनी हाज़िर हो !!
 
                        शिखा कौशिक 'नूतन'