समर्थक

बुधवार, 25 फ़रवरी 2015

''मुबारकबाद देते हैं !''

Image result for free images of flower with knife
''मुबारकबाद देते हैं !''


हमारी जीत को जो हार बना मात देते हैं !
वही हंसकर गले मिलकर मुबारकबाद देते हैं !
.................................................................
बड़े हमदर्द बनकर दे रहे गम में जो तसल्ली ,
वही तो साज़िशें रच क़त्ल को अंजाम देते हैं !
................................................................
मेरी बदनामियों पर हो खफा दुनिया से भिड़ जाते ,
मुझे बदनाम कर ये इस हुनर से काम लेते हैं !
....................................................................
नहीं हममें अक़्ल जो जान लें वे दोस्त या दुश्मन ,
मगर हम बेअक़्ल  शातिर सभी पहचान लेते हैं !
.................................................................
बड़े मासूम हैं ; नादान हैं ; क्या कहें 'नूतन '
जो हमको क़त्ल कर कातिल का हमें नाम देते हैं !


शिखा कौशिक 'नूतन'

1 टिप्पणी:

Kavita Rawat ने कहा…

नहीं हममें अक़्ल जो जान लें वे दोस्त या दुश्मन ,
मगर हम बेअक़्ल शातिर सभी पहचान लेते हैं !
...शातिर से शातिर भी एक दिन गिरफ्त में आ ही जाता है ...
बहुत सुन्दर