समर्थक

रविवार, 24 फ़रवरी 2013

पुरस्कृत होंगे आतंकवादी

 Blood : Red drop ink splatter, blood splash vector. Gloss brush paint spot, grunge blot, art blob, oil, abstract droplet. Splat, liquid illustration. Space for text. Stock Photo
पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,
दिए जायेंगें लोथड़े मांस  के 
जो  उन्होंने  बनाये   हैं इंसानी  जिस्मों के
और  साथ  में उन जिस्मों में के दिलों में
पलते सपनों के टूटे टुकड़े भी !



पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,

दिये  जायेंगे ईनाम में माँ के आंसू
जिन्होंने खोया है बच्चो  को ,
तड़पते बच्चो की चीत्कारें
जिन्होंने खोया है माँ अथवा पिता को
और विस्फोट में शरीरों  से अलग हुए
अंग ,मासूमों की आहें !


पुरस्कृत होंगे आतंकवादी
जिन्होंने है बम विस्फोट किया ,

 दिए जायेंगे बद्दुआ   के   विपुल भंडार ,
और सड़कों पर बिखरा मासूमों का खून ,
क्योंकि तुम बन चुके हो हैवान
मासूमों की हत्या का ये ही तो मिल सकता है ईनाम
      शिखा कौशिक 'नूतन '

रविवार, 17 फ़रवरी 2013

घाटी अपने खून में देश की भक्ति का रस घोल !

      Kashmir Mountain Photos
मैं भारत हूँ सुन ले घाटी दिल की सारी गांठे खोल 
दहशतगर्दी मिटे मुल्क से संग-संग मेरे तू भी बोल .

दहशतगर्दी जो फैलाये करना उसका काम तमाम ,
नरम नहीं अब सख्त दिलों से लेना होगा हमको काम ,

मेरा बेटा-तेरा भाई सबको एक तराजू तोल !
दहशतगर्दी मिटे ..........................................



मासूमों के हत्यारों को फांसी देनी होगी रोज़ ,
अमन मिटाने वालों की नहीं मनेगी खूनी मौज ,
घाटी अपने खून में तू भी देश की भक्ति का रस घोल !

दहशतगर्दी मिटे ..........................................

अगली पीढ़ी नहीं गोद में गद्दारों के खेलेगी ,
दहशत के अंधड़ को वो भला क्यों झेलेगी ,
उनको हम आतंक मिटाकर अमन का दें तोहफा अनमोल !

दहशतगर्दी मिटे ..........................................

             शिखा कौशिक 'नूतन'

                              

शनिवार, 16 फ़रवरी 2013

हिंदुस्तान जैसा आशिक न मिलेगा ..घाटी

  Kashmir Garden Pictures

देर न हो जाये घाटी आज जाग जा ,
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

हिंदुस्तान जैसा आशिक न मिलेगा ,
गुमराह न हो सैय्याद की चाल जान जा !


जो हाथ थाम मेरा साथ चलेगी ,
मंजिल तरक्की की तुझे रोज़ मिलेगी ,
खामोश न रह मेरे संग चीख कर दिखा !

मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

 नोंचने की है पडोसी की तो आदत ,
अस्मत बचाई तेरी देकर के शहादत ,
नादान न बन आ मेरी हिफाज़त में तू आ जा !
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !


 करना है फैसला तुझे रख नेक इरादा  ,
मेरी अज़ीज़ तू रही है जान से जयादा ,
है इश्क़ दूध मेरा केसर सी तू घुल जा !
मेरी वफ़ा का दे सिला अलगाव भूल जा !

                     शिखा कौशिक 'नूतन ''


बुधवार, 13 फ़रवरी 2013

नेताओं की प्रेमिका ''सत्ता''

Happy Valentine's DayHappy Valentine's Day
भरी दुपहरी जेठ की या सावन की बौछार ,
रोज हाथ में 'रोज़' लिए करते इंतजार !


सोते-जागते सुबह-शाम इसकी रहती है खोज ,
प्रॉमिस करते बड़े बड़े ,करते इसको प्रपोज़ !

 
 गले लगाने को इसे हम सब हैं तैयार ,
पहने फूलों के हार भी जूतों की खाते मार !

  

 अमर प्रेम इससे हमें करते हैं स्वीकार ,
चंचल चित्त की प्रेमिका प्रेमी बदले हर बार !



     
मेहरबान जिस प्रेमी पर उसकी बनती सरकार ,
नेताओं की प्रेमिका ''सत्ता'' की जय जयकार !!!
          शिखा कौशिक 'नूतन'