समर्थक

रविवार, 18 मार्च 2012

''तलाक '' हो जाता है !

''तलाक '' हो जाता है !

[photos google se sabhar ]


भावी पति की चाहत 
भावी पत्नी के बाल 
लम्बें होने चाहिए 
भावी पत्नी के बाल 
बढ़ जाते हैं झट से .


पति की चाहत 
पत्नी न पहने 
आधुनिक परिधान  
पत्नी साड़ी में 
लिपट  जाती है . 


पतिदेव की चाहत 
पत्नी रहे चौखट 
के भीतर..पत्नी 
घर में सिमट जाती है .


पत्नी की चाहत 
पतिदेव मुझे एक 
मानवी का सम्मान 
 तो दें कम से कम 
''तलाक '' हो जाता है .


                            शिखा कौशिक 
                             [विख्यात ]



6 टिप्‍पणियां:

Kailash Sharma ने कहा…

आज की सच्चाई की बहुत प्रभावी अभिव्यक्ति..बहुत सुंदर..

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बहुत ही बढ़िया

सादर

Raravi ने कहा…

समाज को आइना दिखाती सुन्दर रचना. सच में कितना कुछ औरतों को करना बदलना पड़ता है सिर्फ इसलिए की पति या उसके परिजन की ऐसी इच्छा या अपेक्षा है. आपकी रचना ने मुझे और सजग बनाया है.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

क्या त्रासदी है।

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

Ajeeb hai...Par Sach hai...

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

औरत है, औरत की तरह रहे -सदा पति के अनुकूल. उसकी अपनी कोई माँग या इच्छा क्यों?
- हटा दो रास्ते से .